Home उत्तराखंड मुख्यमंत्री ने गंगोलीहाट में करीब 23 करोड़ की योजनाओं को शिलान्यास और...

मुख्यमंत्री ने गंगोलीहाट में करीब 23 करोड़ की योजनाओं को शिलान्यास और लोकार्पण किया, क्षेत्र के विकास के लिए कई घोषणाएं की

पिथौरागढ़। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को गंगोलीहाट में 21 करोड़ 57 लाख रुपए के 06 कार्यों का शिलान्यास और 1 करोड़ 39 लाख की लागत के जीआईसी दशाईथल, गंगोलीहाट का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने क्षेत्र के विकास के लिए कई घोषणाएं की।
उन्होंने विकासखंड बेरीनाग के ग्राम बेलकोट-उपराडा सड़क को शहीद चारुचंद्र और विकासखंड गंगोलीहाट में जरमाल गांव से कनारा सड़क को वीर चक्र विजेता शहीद शेर सिंह के नाम से कराए जाने की घोषणा की। इसके अतिरिक्त गणाई बनकोट मोटर मार्ग का डामरीकरण एवं सुधारीकरण किए जाने, डंगोली सैलानी- दाडिमखेत-धरमघर, कोटमन्या-पाँख, थल- सातशिलिंग मोटर मार्ग में सुधारीकरण एवं हॉटमिक्स का कार्य अवशेष की घोषणा, बासपटान ग्वाल मोटर मार्ग सेतु सहित (5 कि०मी०) की घोषणा, थर्प बडेत बाफिला मोटर मार्ग के कि०मी० 2 से कमदीना बगदोली बजेत मोटर मार्ग का निर्माण (4 कि०मी०) की घोषणा, मधनपुर काकडा मोटर मार्ग (3 कि०मी०) की घोषणा, पाताल भुवनेश्वर से चैडमन्या मोटर मार्ग (5 कि०मी०) की घोषणा। मडकनाली सुरखाल पाठक मोटर मार्ग का निर्माण, बोगटा से खतीगंव तल्लीसार मोटर मार्ग, चमलेख इंटर कालेज का जीर्णोद्धार, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बेरीनाग में विभिन्न चिकित्सा विशेषज्ञ की तैनाती, चैंलेखवसे क्लोन तक मोटर मार्ग का शीघ्र निर्माण, ड्युड हडाकोट से बड़ेना मोटर मार्ग का शीघ्र निर्माण, गंगोलीहाट में अगले सत्र से पशु चिकित्सा महाविद्यालय खोले जाने की घोषणा समेत क्षेत्र के विकास के लिए विभिन्न घोषणाएं की।
मुख्यमंत्री  पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि मां हाट कालिका के दर्शन कर उन्हें असीम शक्ति एवं शांति की अनुभूति हुई। मां हाट कालिका से मिले संरक्षण के कारण ही आज हम इतनी लगन और समर्पण के साथ उत्तराखण्ड की सेवा कर पा रहे हैं। इसी सिद्ध स्थान पर आदि गुरू शंकराचार्य जी द्वारा मां देवी की स्तुति करने के लिए देवी अपराध क्षमा स्रोत ’’न मत्रं नो यन्त्रं’’ की रचना की थी। जिसमें वर्णित ’’कुपुत्रो जायेत क्व चिदपि कुमाता न भवति’’ अर्थात पुत्र कुपुत्र हो सकता है, परन्तु माता कुमाता कभी नही हो सकती, जैसी सारगर्भित पंक्ति हमारी संस्कृति का दृष्टि सूत्र है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह भूमि जहां वीरों की भूमि रही है, विद्वानों की भूमि रही है, वहीं महान ज्योतिषाचार्यों की भी भूमि रही है। गंगोलीहाट क्षेत्र जहां अपनी ऐतिहासिक पृष्ठभूमि को समेटे हैं, वहीं पर्यटन की दृष्टि से भी अत्यन्त महत्वपूर्ण है।
इस अवसर पर पेयजल मंत्री बिशन सिंह चुफाल, विधायक गंगोलीहाट मीना गंगोला, अध्यक्ष जिला पंचायत दीपिका बोहरा, जिलाध्यक्ष भाजपा वीरेन्द्र वल्दिया, ब्लॉक प्रमुख गंगोलीहाट  अर्चना गंगोला, बेरीनाग विनीता बाफिला, धारचूला धन सिंह धामी, जिलाधिकारी डॉ आशीष चैहान, पुलिस अधीक्षक लोकेश्वर सिंह आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

मुख्यमंत्री धामी अपने पैतृक गांव हड़खोला पहुंचे, हरी चंद स्वामी मन्दिर में की पूजा-अर्चना

पिथौरागढ़। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज अपने पैतृक गांव हड़खोला पहुंचकर हरी चंद स्वामी मन्दिर में विधि-विधान से पूजा-अर्चना की। मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी डा....

सीमांत गुंजी में मुख्यमंत्री ने किया माउन्टेन साइकिल रैली का शुभारंभ

अन्य राज्यों के लोगों को प्रदेश के प्राकृतिक सौन्दर्य एवं संस्कृति को जानने का मिलेगा अवसर राज्य में साहसिक पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा ...

चंबा-धरासू मोटर मार्ग पर सड़क हादसे में मृत सभी छह लोगों की शिनाख्त

नई टिहरी। चंबा-धरासू मोटर मार्ग पर तहसील कंडिसौड़ के कोटी गाड़ के समीप आज दोपहर लगभग साढ़े तीन बजे दुर्घटनाग्रस्त बुलेरो में मृत छह...

Breaking News: पौड़ी के सीईओ का प्राइवेट स्कूलों में छापा, किताबों, बैग और यूनिफार्म से भरा स्टोर सील

कोटद्वार। पौड़ी के मुख्य शिक्षा अधिकारी डॉ0 आनंद भारद्वाज ने आज कोटद्वार क्षेत्र के प्राइवेट स्कूलों का निरीक्षण किया। उन्होंने एक स्कूल का स्टोर...
- Advertisment -

Recent Comments

error: Content is protected !!