Home पर्यटन विश्व धरोहर फूलों की घाटी में आज से 500 से अधिक प्रजाति...

विश्व धरोहर फूलों की घाटी में आज से 500 से अधिक प्रजाति के फूलों का दीदार कर सकेंगे पर्यटक

गोपेश्वर। विश्व धरोहर स्थल फूलों की घाटी आज से पर्यटकों के लिए खोल दी गई है। नंदा देवी राष्ट्रीय पार्क के प्रभागीय वनाधिकारी नंदाबल्लभ जोशी ने पर्यटकों को घांघरिया से फूलों की घाटी के लिए रवाना किया। पहले दिन 75 पर्यटकों को घाटी के लिए रवाना किया गया।

देश-विदेश के पर्यटक 31 अक्टूबर तक 87.50 वर्ग किमी में फैली फूलों की घाटी में 500 से अधिक प्रजाति के फूलों की फूलों का दीदार कर सकेंगे। इनमें उत्तराखंड का राजकीय पुष्प ब्रह्मकमल भी शामिल है। फूलों की घाटी की खोज ब्रिटिश पर्वतारोही फ्रैंक एस स्मिथ ने 1931 में की थी। फूलों की घाटी को 1982 में राष्ट्रीय उद्यान घोषित किया गया था। घाटी में तेंदुए, कस्तूरी मृग और नीली भेड़ काफी संख्या में हैं। घाटी में 17 किमी लंबा ट्रेक है जो 10 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित है।

फूलों की घाटी में रात्रि विश्राम के लिए किसी को भी अनुमति नहीं है। घाटी का दीदार कर पर्यटकों को दोपहर के बाद तीन किमी पहले बेस कैंप घांघरिया लौटना पड़ता है। घाटी में हर पन्द्रह दिनों में अलग रंगों के फूल नजर आते हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

Breaking News: शिक्षा विभाग में तीन वर्ष से अधिक समय से एक ही स्थान पर जमे अधिकारी और कर्मचारी हटेंगे

शिक्षा मंत्री के आदेश के बाद हरकत में आया विभाग  वर्षों से एक ही स्थान पर जमे अधिकारियांे और कर्मचारियों का ब्योरा तलब

राजधानी में आंचल के पहले कैफे का उद्घाटन, मंत्री बहुगुणा ने शहीद की पत्नी को सौंपी कैफे की चाभी

अमूल और मदर डेयरी से आगे बढ़ने के लिए आंचल की ब्रांडिंग की जरुरतः बहुगुणा देहरादून। डेयरी विकास मंत्री सौरव बहुगुणा ने कहा कि...

Breaking News: प्रोफेसर बिष्ट सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय अल्मोड़ा के अस्थाई कुलपति नियुक्त

देहरादून। प्रोफेसर जगत सिंह बिष्ट को सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय अल्मोड़ा का अस्थाई कुलपति नियुक्त किया गया है।
- Advertisment -

Recent Comments

error: Content is protected !!