Home शिक्षा Breaking News: डिग्री कॉलेजों में रखे जायेंगे योग प्रशिक्षक

Breaking News: डिग्री कॉलेजों में रखे जायेंगे योग प्रशिक्षक

  • राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय की संशोधित डीपीआर तैयार करने के निर्देश
  • राजकीय महाविद्यालयों के नैक एक्रिडिएशन को गठित होगी उच्च स्तरीय समिति
  • राज्य में एनईपी के तहत नये पाठ्यक्रमों को शीघ्र मिलेगी स्वीकृति

देहरादून। सूबे के राजकीय विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को किताबी ज्ञान के साथ-साथ स्वस्थ रहने के लिए योग का भी अभ्यास कराया जायेगा, जिसके लिये प्रत्येक विश्वविद्यालय परिसर एवं महाविद्यालयों में योग प्रशिक्षक तैनात किये जायेंगे। देहरादून में प्रस्तावित राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय की स्थापना हेतु संशोधित डीपीआर तैयार कर शासन को भेजने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिये गये। विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों में नैक एक्रिडिएशन की निगरानी एवं सुझाव हेतु एक उच्च स्तरीय समिति गठित की जायेगी। उच्च शिक्षा विभाग में इसी शैक्षणिक सत्र से राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के क्रियान्वयन के लिये राज्य स्तरीय समिति द्वारा तैयार विभिन्न विषयों के पाठ्यक्रमों के ढ़ांचे को शीघ्र स्वीकृति प्रदान कर दी जायेगी।

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत ने आज शासकीय आवास में उच्च शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक ली। जिसमें उन्होंने राजकीय विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को शिक्षा के साथ-साथ योग प्रशिक्षण देने के लिये इसी सत्र से नियत वेतनमान पर एक-एक योग प्रशिक्षक तैनात करने के निर्देश अधिकारियों को दिये। विभागीय मंत्री ने कहा कि योग प्रशिक्षकों की नियुक्ति का अधिकार गेस्ट फैकल्टी की भांति संबंधित महाविद्यालयों के प्राचार्यों को दिया जायेगा। डॉ0 रावत ने बताया कि देहरादून में स्वीकृत राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय के निर्माण का कार्य इसी वर्ष शुरू कर दिया जायेगा, इसके लिये उन्होंने संशोधित डीपीआर तैयार कर शीघ्र शासन को प्रेषित करने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिये। सूबे के राजकीय विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों में नैक एक्रिडिएशन की तैयारियों की निगरानी एवं सुझाव हेतु विभागीय सचिव की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समिति गठित की जायेगी। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ0 रावत ने कहा कि नैक एक्रिडिएशन मिलने के उपरांत राज्य के विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों को यूजीसी द्वारा अतिरिक्त अनुदान मिल सकेगा, जिसके लिये सरकार हर संभव प्रयास करेगी। उन्होंने बताया कि राज्य के उच्च शिक्षा विभाग में इसी शैक्षणिक सत्र से राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के क्रियान्वयन हेतु राज्य स्तरीय समिति द्वारा तैयार विभिन्न विषयों के पाठ्यक्रमों के ढ़ांचे को शीघ्र अंतिम रूप देकर लागू कर दिया जायेगा, इससे पूर्व निजी विश्वविद्यालयों के संचालकों एवं कुलपतियों के साथ एक बैठक का आयोजन किया जायेगा ताकि नये पाठ्यक्रम लागू करने में उनके सुझावों को भी शामिल किया जा सके।

बैठक में उच्च शिक्षा सचिव शैलेश बगोली, सलाहकार रूसा प्रो0 एम0एस0एम0 रावत, प्रो0 के0डी0 पुरोहित, अपर सचिव एम0एम0 सेमवाल, संयुक्त निदेशक डॉ0 ए0एस0 उनियाल सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

Breaking News: सौजन्या केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर, बगोली को सूचना प्रौद्योगिकी और जावलकर को निर्वाचन की भी जिम्मेदारी

देहरादून। आईएएस सौजन्या के केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर जाने के कारण शैलेश बगोली को सचिव सूचना प्रौद्योगिकी और दिलीप जावलकर को सचिव निर्वाचन की...

चकराता महाविद्यालय में नवागंतुक विद्यार्थियों का स्वागत, सुसज्जित कंप्यूटर लैब देखकर विद्यार्थी खुश

चकराता। श्री गुलाब सिंह राजकीय महाविद्यालय चकराता में स्नातक प्रथम सेमेस्टर में प्रवेशित विद्यार्थियों को नियम निर्देशों की जानकारी दी गई। बुधवार को प्राचार्य...

स्टेट एण्टी नारकोटिक्स टास्क फोर्स के थाना क्षेत्र में जाकर ड्रग्स पकड़ने पर संबंधित थाना प्रभारी पर होगी कार्रवाईः डीजीपी

डीजीपी करेंगे एण्टी नारकोटिक्स टास्क फोर्स (ANTF) की मासिक समीक्षा करेंगे देहरादून। मुख्यमंत्री ने वर्ष 2025 तक उत्तराखंड को नशामुक्त करने का लक्ष्य निर्धारित...

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सीएम धामी से की शिष्टाचार भेंट

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मंगलवार को मुख्यमंत्री आवास में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने शिष्टाचार भेंट की। उन्होंने प्रदेश हित से जुड़े...
- Advertisment -

Recent Comments

error: Content is protected !!