Home अपराध Breaking News: एसटीएफ की ईनामी अपराधियों पर ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी

Breaking News: एसटीएफ की ईनामी अपराधियों पर ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी

  • हरिद्वार से लाखों की ठगी कर पांच साल से गायब 25 हजार रुपए का ईनामी बदमाश चण्डीगढ़ से गिरप्तार

  • नाम-पता और वेष बदलकर होटल में छिपकर रह रहा था शातिर ठग

  • हर बार ठिकाना बदलकर हो जाता था गायब

  • पिछले 15 दिन में एसटीएफ ने सात कुख्यात ईनामी अपराधी किए गिरप्तार

देहरादून। एसटीएफ ने आज एक ऐसे शातिर ठग को चण्डीगढ़ से गिरप्तार करने में कामयाबी प्राप्त की है जो पिछले पांच सालों से पुलिस को छकाता रहा है। हरिद्वार के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने शुरू में इसकी गिरप्तारी के लिए पांच हजार रुपए की घोषणा की थी। बाद में डीआईजी/एसएसपी हरिद्वार ने इस अभियुक्त की गिरप्तारी पर ईनाम की धनराशि बढ़ाकर 25 हजार रुपए कर दी थी।
गौरतलब है कि अभियुक्त अमर सिंह ग्राम कुंजा, बहादुरपुर, हरिद्वार का पूर्व ग्राम प्रधान था। अपने प्रधान के कार्यकाल के के दौरान ही उसने अपने प्रभुत्व का इस्तेमाल कर कई लोगों को इस झांसे में ले लिया था कि वह उनकी नौकरी राजकीय इंटर कॉलेज में क्लर्क के पद पर अथवा बीएचईएल हरिद्वार में लगा सकता है। आरोपी, नौकरी लगाने का झांसा देकर कई लोगों से लाखों रुपए लेकर एक दिन अचानक हरिद्वार से गायब हो गया। उसने अपने पूरे परिवार से संपर्क भी खत्म कर लिया। आरोपी के खिलाफ कोतवाली रूड़की में धोखाधड़ी का मुकदमा वर्ष 2018 में दर्ज किया गया था। तब से अभियुक्त लगातार फरार चल रहा था।
आज पुलिस अधीक्षक एसटीएफ चंद्र मोहन सिंह ने बताया कि एसटीएफ की एक टीम कोतवाली रूड़की से वर्ष 2018 से घोखाधड़ी के एक मामले में वांछित शातिर अमर सिंह को पकड़ने के लिये पिछले काफी प्रयास कर रही थी, परन्तु वह काफी प्रयास के बाद भी अब तक गिरप्तार नहीं हो सका था, क्योंकि वो हर माह में अपना नया ठिकाना बदल लेता था। इस अभियुक्त की गिरप्तारी हेतु पुलिस उप महानिरीक्षक हरिद्वार द्वारा 25 हजार रूपये की ईनाम की घोषणा की गयी थी। इस बार वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आयुष अग्रवाल द्वारा अभियुक्त अमर सिंह के लगातार ठिकाने बदलने के पैटर्न को विश्लेषित कर एसटीएफ टीम को एक नयी रणनीति बनाकर इस अभियुक्त की गिरप्तारी हेतु पुनः निर्देशित किया गया। आज एसटीएफ की टीम ने इस शातिर अपराधी को चण्डीगढ़ के एक होटल गोल्डन जन्नत में दबिश देकर गिरप्तार कर लिया।
अमर सिंह होटल में अपना वेश बदलकर रखता था, ताकि कोई उसे पहचान न सके। आोपी हर महीने राजस्थान के नागौर जिले में स्थित ओशो ध्यान सेंटर में जाया करता था।

पुलिस टीम का विवरण
1.उ0नि0 विपिन बहुगुणा
2.उ0नि0 नरोत्तम विष्ट
3.कां0 प्रमोद
4.कां0 देवेन्द्र मंमगाई
5.कां0 रवि पन्त
6.कां0 दीपक चन्दोला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

किशोरावस्था में होने वाले परिवर्तन और चुनौतियों के बारे में छात्राओं को बताया

पुरोला। राजकीय इंटर काॅलेज हुडोली में शनिवार को सम्रग शिक्षा अभियान के अंतर्गत विद्यालय में अध्ययनरत कक्षा 9 से 12 तक छात्राओं के लिये...

विश्व कैंसर दिवसः श्री महंत इंदिरेश अस्पताल ने कैंसर के लक्षणों के बारे में लोगों को किया जागरूक

देहरादून। हर साल 4 फरवरी को विश्व स्तर पर कैंसर जागरूकता के लिए विश्व कैंसर दिवस मनाया जाता है। इसी सन्दर्भ श्री महंत इंदिरेश...

अंकिता हत्याकाण्डः पुलकित आर्य की पौने तीन करोड़ रुपए की सम्पत्ति होगी जब्त

पुलिस ने डीएम पौड़ी और हरिद्वार को भेजी रिपोर्ट पौड़ी। पौड़ी पुलिस ने संगठित गिरोह बनाकर अपराध करने वाले अंकिता हत्याकाण्ड के आरोपी की...

AE/JE भर्ती परीक्षा के पेपर लीक करने के तीन आरोपी गिरफ्तार, लाखों की नगदी और ब्लैंक चेक बरामद

मुख्यमंत्री के आदेश पर थाना कनखल में कल दर्ज किया गया था मुकदमा हरिद्वार। J.E./A.E. प्रश्न लीक प्रकरण में S.I.T. ने पर्याप्त साक्ष्यों के...
- Advertisment -

Recent Comments

error: Content is protected !!