Home अदालत Breaking News: चारधाम में यात्रियों के निर्धारित संख्या से अधिक जाने और...

Breaking News: चारधाम में यात्रियों के निर्धारित संख्या से अधिक जाने और दर्शन करने पर लगी रोक हटी, अब बेरोकटोक दर्शन कर सकेंगे श्रद्धालु

नैनीताल। उत्तराखंड हाइकोर्ट ने चारों धाम में यात्रियों के निर्धारित संख्या से अधिक जाने और दर्शन करने पर लगी रोक को हटा दिया है। कोर्ट के आदेश के बाद अब श्रद्धालु बेरोकटोक चारधाम दर्शन के लिए जा सकेंगे।
चारधाम यात्रा के श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ाए जाने के मामले को लेकर दायर याचिका पर मंगलवार को मंगलवार को मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति आरएस चौहान व न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा की खंडपीठ में सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान महाधिवक्ता एसएन बाबुलकर व मुख्य स्थाई अधिवक्ता चंद्रशेखर रावत ने सरकार का पक्ष रखते हुए कहा कि वर्तमान समय मे प्रदेश में कोविड के केस ना के बराबर आ रहे हैं, इसलिए चारधाम यात्रा करने के लिए श्रद्धालुओं की निर्धारित संख्या के आदेश में संशोधन किया जाए। कोर्ट ने साफ किया कि शासन को कोविड प्रोटोकॉल का अनुपालन सुनिश्चित कराना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

Breaking News: सीएम धामी ने कसे अफसरों के पेंच, बोले- हाल की कुछ घटनाओं से हुई राज्य की छवि धुमिल, अब न हो पुनरावृत्ति

अपराधियों एवं असामाजिक तत्वों के विरूद्ध की जाए कठोर कार्रवाई प्रदेश में माहौल खराब करने वाले तत्वों पर रखें कड़ी नजर मुख्यमंत्री ने...

अंकिता भंडारी का श्रीनगर में अंतिम संस्कार, बेहद गमगीन माहौल में भाई ने दी चिता का मुखाग्नि

श्रीनगर गढ़वाल। अंकिता भंडारी का अंतिम संस्कार आज शाम साढ़े चार बजे आईटीआई घाट पर भारी पुलिस सुरक्षा के बीच हुआ। बेहद गमगीन माहौल...

Breaking News: नकल माफिया हाकम सिंह के रिजॉर्ट की नाप-जोख पूरी

अब किसी भी वक्त चल सकता है बुलडोजर आज राजस्व व वन विभाग की टीम ने किया भौतिक सत्यापन   सरकारी भूमि पर...

फर्जी सूचना वायरल करने पर श्री महन्त इंदिरेश अस्पताल ने व्हाट्सएप ग्रुप एडमिन पर मानहानि का दावा ठोका

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक व कोतवाली पटेल नगर में तहरीर दी अस्पताल ने स्वास्थ्य मंत्री, सचिव स्वास्थ्य व सीएमओ को पत्र भेजकर पोस्टमार्टम की...
- Advertisment -

Recent Comments

error: Content is protected !!